MP Board Scooty Yojana 2023 Latest News: स्कूली छात्रों को स्कूटी दिलाने दलाल हुए सक्रिय, नए नियम जानें छात्र

MP Board Scooty Yojana 2023 New Update Today: एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं की टॉपर विद्यार्थियों के लिए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा स्कूटी योजना की शुरुआत की गई है जिसमें विद्यार्थियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी या पेट्रोल स्कूटी चुनने का मौका दिया जाता है । इस आर्टिकल के माध्यम से एमपी बोर्ड स्कूटी योजना के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी से अवगत कराने जा रहे हैं।

Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
MP Board Scooty Yojana 2023 Latest News: स्कूली छात्रों को स्कूटी दिलाने दलाल हुए सक्रिय, नए नियम जानें छात्र
MP Board Scooty Yojana 2023 New Update Today

प्रदेश सरकार की ओर से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में पहला स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को स्कूटी प्रदान की जानी है। योजना का छात्रों तक सीधा लाभ पहुंचाने का सरकार की ओर से लाख दावे किए जा रहे है, लेकिन योजना के उलट छात्रों को लाभ दिलाने को लेकर दलाल सक्रिय हो गए है।

Read : Mp Board Best Of Five Yojana 2023 – 2024 Class 10th इस साल बेस्ट ऑफ फाइव है या नहीं

पूरा खेल विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों के सामने हो रहा है, जिसके बाद भी जिम्मेदार अधिकारी मौन है। सूत्र बताते है कि सक्रिय दलालों को शिक्षा विभाग की ओर से पात्र छात्रो की बाकायदा सूची तक उपलब्ध कराई गई है। दलालों के द्वारा छात्रों को दो गाड़ियों के कोटेशन और यहां तक की आरटीओ से ड्राईविंग लाईसेंस बनाने के नाम पर 1800 से 3000 हजार रूपए तक वसूल किए जा रहे है।

read : Mp Board 12th Blueprint 2023-24 Hindi Medium एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं ब्लूप्रिंट 2023-24 पीडीएफ डाउनलोड करें

जिले के 248 छात्रों प्रदान की जानी है ई-स्कूटी, शिक्षा विभाग ने दलालों को उपलब्ध कराई सूची » प्रदेश में इस योजना के तहत पहले वर्ष 135 करोड़ रुपए होना है खर्च

शपथ पत्र के नाम पर भी मोटी राशि हो रही खर्च : स्कूटी का शपथ पत्र देना है, शपथ पत्र बनाने के लिए भी छात्रों को 200 से 500 रूपए तक खर्च करना पड़ रहा है। शपथ पत्र पर अभिभावाको से लिखा जाना है कि जिस प्रायोजन से यह राशि प्रदान की जा रही है, उसी प्रायोजन में खर्च की जानी है।

read : MP Board Class 10th Blueprint 2023-24 Hindi Medium एमपी बोर्ड 10वीं ब्लूप्रिंट 2023-2024 पीडीएफ डाउनलोड करें

Join Private Group - CLICK HERE
बोर्ड परीक्षा 2024लिंक
New Syllabus 2024Click Here
New Blueprint 2024Click Here
Exam Pattern 2024Click Here
Board Exam Time Table 2024Click Here
Practical Exam Date 2024Click Here

छात्र का लाइसेंस होना अनिवार्य : इस योजना के पात्र छात्र के पास में ड्राइविंग लाइसेंस होना भी अनिवार्य है, लेकिन योजना के तहत पात्र छात्रों में से अधिकांश छात्रों के पास में ड्राईविंग लाइसेंस तक नहीं है, ऐसे में छात्रों को ड्राईविंग लाईसेस बनाने के लिए दलाल तक सक्रिय हो गए हैं, छात्रों को जल्द से जल्द लाइसेंस बनाने के लिए संपर्क कर रहे है।

read : MP Board Quarterly Exam Syllabus 2023-24 कक्षा 9वीं से 12वीं त्रैमासिक परीक्षा सिलेबस हुआ तैयार,यहां से पीडीएफ डाउनलोड करें

देना है दोनों ही गाड़ियों के कोटेशन: योजना के तहत पात्र छात्र ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि उनके नंबर पर ड्राईविंग लाईसेंस बनाने और दो गाड़ियों के कोटेशन देने को लेकर फोन आ रहे है, ऐसे में असमस्य में है कि आखिर करे तो करे क्या, क्योकि शासन को ड्राईविंग लाईसेंस के साथ ही एक ई- स्कूटी और दूसरी पेट्रोल वाली स्कूटी वाली गाड़ी का कोटेशन के साथ ही बैंक की पासबुक और छात्र के पिता के द्वारा 100 के स्टॉप पर शपथ पत्र प्रदान किया जाना है।

बढ़े अंकों से ई-स्कूटी पर मशक्कत 20 हजार विद्यार्थियों ने रीवैल्युवेशन कराया, 25% के अंक बढ़ गए

रिजल्ट से संतुष्ट न होने वाले बोर्ड परीक्षाओं के होनहार पुनर्गणना कराते आ रहे हैं। इसमें कई के नंबर भी बढ़ते हैं। यह बात अब पुरानी हो गई। नई यह है कि इस बार सरकार और स्कूल शिक्षा विभाग के सामने उलझन खड़ी हो गई है।

read : Mp Board 50000 Scheme For Merit List 10th 12th Toppers | एमपी बोर्ड टॉपर को 50 हजार कब मिलेंगे

वजह है ई-स्कूटी योजना के अनुसार इस साल 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को ई- स्कूटी दी गई। अब नंबर बढ़ने के बाव और भी विद्यार्थी पात्र हो गए हैं। ऐसे में विभाग को नए सिरे से मशक्कत करनी पड़ेगी। इस साल पुनर्गणना आवेदन की बढ़ी संख्या से माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारी भी हैरान हैं।

कमाल यह भी है कि पुनर्मूल्याकन में करीब 25 फीसदी बच्चों के अंक बढ़ गए। टॉपर्स सूची भी गड़बड़ा गई। जैसे भोपाल की सुभाष एक्सीलेंस स्कूल में तीन विद्यार्थियों के नंबर समान होने से तीनों स्कूटी के पात्र हो गए हैं।

पास छात्र ज्यादा करा रहे पुनर्गणना : अधिकारियों के अनुसार सरकार की लैपटॉप और ई-स्कूटी योजना के कारण अब फेल से ज्यादा पास विद्यार्थी पुनर्गणना करवा रहे हैं। इसमें ऐसे छात्रों की संख्या ज्यादा है, जो 5-10 नंबर से 75 प्रतिशत या स्कूल टॉपर बनने से रहे गए. है। 12वीं कक्षा के करीब 20 हजार छात्र-छात्राओं ने पुनर्गणना के लिए आवेदन किया था। इनमें से 25 फीसदी विद्यार्थियों के नंबर चेंज हुए हैं। 12वीं में किसी स्कूल के एक से ज्यादा विद्यार्थियों के अंक समान हैं तो उन सभी को स्कूटी दी जाएगी।

मध्य प्रदेश शिक्षा विभाग से संबंधित नवीन जानकारियों के लिए नीचे दिए गए लिंक से हमारा टेलीग्राम अथवा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें।

Join Private Group - CLICK HERE
Home PageClick Here
InstagramClick Here
TwitterClick Here
WhatsApp GroupClick Here
Telegram GroupClick Here

I am SK the author of this website, here information related to various schemes and board exams is shared.

Leave a Comment

close